पश्चिम रेलवे क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक में तकनीकी माध्यमों के सदुपयोग पर बल

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल चर्चगेट, मुंबई स्थित प्रधान कार्यालय में आयोजित क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक को संबोधित करते हुए।

Mumbai: पश्चिम रेलवे की क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की राजभाषा बैठक पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। महाप्रबंधक श्री कंसल ने समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के इस दौर में कम्प्यूटर और इन्टरनेट ने संसार में सूचना क्रान्ति पैदा कर दी है। आज कोई भी भाषा कम्प्यूटर तथा अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरणों से अलग रहकर आम जनता से जुड़ी नहीं रह सकती है। इसलिए राजभाषा हिंदी के भी कई ई-टूल्स विकसित किए गए हैं। अतः राजभाषा को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए सभी तकनीकी माध्‍यमों का प्रयोग सुनिश्चित किया जाना चाहिये। आजकल आम जनता विभिन्न प्रकार की जानकारियाँ वेबसाइटों से ही प्राप्त कर रही है। इस लिए यह आवश्यक है कि साइटों पर सभी प्रकार की जानकारियाँ अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी सरल और सहज भाषा में उपलब्ध करवाई जाएं।
पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार महाप्रबंधक श्री कंसल ने कहा कि हिंदी की सरलता, सहजता और शालीनता प्रत्‍येक हिन्दी भाषी की अभिव्‍यक्ति को सार्थकता प्रदान करती है। अत: जनसंपर्क की सभी मदों और दौरा कार्यक्रमों में 100 प्रतिशत कार्य हिंदी में किया जाए। इस बैठक में पश्चिम रेलवे के प्रधान कार्यालय, महाराष्ट्र और गुजरात में स्थित 6 मंडलों और 6 कारखानों में पिछली तिमाही के दौरान राजभाषा कार्यान्वयन में हुई प्रगति की समीक्षा की गई. राजभाषा कार्यान्वयन में हुई प्रगति संबंधी आंकड़े समिति के सदस्य सचिव डॉ सुशील कुमार शर्मा द्वारा प्रस्तुत किए गए। राजभाषा बैठक के प्रारंभ में पश्चिम रेलवे के मुख्य राजभाषा अधिकारी श्री अजय गोयल ने समिति के अध्यक्ष एवं महाप्रबंधक, अपर महाप्रबंधक, गृह मंत्रालय के उपनिदेशक, पश्चिम रेलवे के सभी विभागों के प्रमुखों, मंडल रेल प्रबंधक एवं अपर मंडल रेल प्रबंधक, सभी प्रमुख कारखाना प्रबंधकों और अन्य अधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि उच्च अधिकारी स्‍वयं ज्‍यादा से ज्‍यादा कार्य हिंदी में करें। उन्‍होंने भावनगर मंडल द्वारा जारी एप की प्रशंसा करते हुए कहा कि इसमें पश्चिम रेलवे की सभी हिंदी पत्रिकाएं एक ही जगह उपलब्‍ध हैं। उन्‍होंने सभी से ई-ऑफिस में हिंदी के कार्यों को बढ़ाने का भी आग्रह किया। पश्चिम रेलवे क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की इस राजभाषा बैठक में गृह मंत्रालय से उप निदेशक डॉ. विश्‍वनाथ झा, और पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार के अलावा प्रमुख मुख्‍य सामग्री प्रबंधक, प्रमुख मुख्‍य सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर, प्रमुख वित्‍त सलाहकार और प्रमुख मुख्‍य कार्मिक अधिकारी भी उपस्थित थे। अंत में पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी श्री अशोक कुमार के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक संपन्न हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

Madhya Pradesh : मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने उद्योगपतियों और निवेशकों से की वन-टू-वन चर्चा

  मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने उद्योगपतियों और निवेशकों से की वन-टू-वन चर्चा मुख्यमंत्री ने सिटी इलेक्ट्रिक ट्रक और इलेक्ट्रिक स्टॉफ बस को झंडी दिखाकर किया रवाना Indore: मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने शुक्रवार को रीजनल इंडस्ट्री कॉन्‍क्लेव के पहले दिन के दूसरे सत्र में उद्योगपतियों और निवेशकों से वन-टू-वन चर्चा की। उद्योग समूहों ने प्रदेश […]