अडानी समूह ने कोयला आयात में बिल बढ़ाकर बताया, हड़पे 12,000 करोड़ : राहुल गांधी

 

नई दिल्ली । कांग्रेस नेता और पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर गौतम अडानी मामले पर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला किया है। राहुल गांधी ने मीडिया रिपोर्ट का हवाला देकर अडाणी समूह पर कोयला आयात में बढ़ा चढ़ाकर बिल दिखाने और लोगों से 12,000 करोड़ रुपये हड़पने का आरोप लगाया। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि अडानी द्वारा कोयला आयात को महंगा दिखाए जाने के कारण आम लोगों को बिजली की अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है। राहुल गांधी ने पूछा आखिर मोदी सरकार अडाणी समूह के खिलाफ जांच क्यों नहीं कर रही है।
दरअसल कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक ब्रिटिश अखबार की खबर का हवाला देकर दावा भी किया कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इस संदर्भ में मदद करना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री अडाणी समूह के मामले की जांच कराएं और अपनी विश्वसनीयता बचाएं। राहुल गांधी ने कहा, अडानी इंडोनेशिया में कोयला खरीदते हैं और जब तक वहां कोयला भारत आता है, इसकी कीमत दोगुनी हो जाती है। हमारी बिजली की कीमतें बढ़ रही हैं। वह (अडानी) सबसे गरीब लोगों से पैसा लेते हैं। अडानी मुद्दे पर कांग्रेस नेता का कहना है कि, इस बार चोरी जनता की जेब से हो रही है…जब आप स्विच का बटन दबाते हैं, तब अडानी की जेब में पैसा जाता है।
राहुल गांधी ने कहा लोग सवाल पूछ रहे हैं…अलग-अलग देशों में पूछताछ हो रही है लेकिन भारत में कुछ नहीं हो रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि आखिरकार प्रधानमंत्री जी अडाणी समूह के खिलाफ जांच क्यों नहीं कराते? राहुल गांधी ने दावा किया कि अडाणी समूह से जुड़े मामले के कारण पीएम मोदी की विश्वसनीयता पर असर हो रहा है। उन्होंने कहा, मैं प्रधानमंत्री की मदद करना चाहता हूं। वह मामले की जांच कराएं और अपनी विश्वसनीयता बचाएं। राहुल गांधी के आरोपों पर फिलहाल अडाणी समूह की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड को मिला ‘बेस्ट स्टेट टूरिज्म बोर्ड’ का अवॉर्ड

  मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड को मिला ‘बेस्ट स्टेट टूरिज्म बोर्ड’ का अवॉर्ड नई दिल्ली में SATTE एग्जिबिशन के दौरान मिला सम्मान भोपाल : मध्यप्रदेश के पर्यटन गंतव्यों के प्रचार-प्रसार, नवाचार करने, पर्यटकों को अनुभव आधारित पर्य़टन प्रदान करने एवं पर्यावरण अनुकूल पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड (एमपीटीबी) को […]