कोरोना काल में कला और कलाकारों की भूमिका अहम : डॉ रमाशंकर मिश्र (Dr. Ramashankar Mishra)

भोपाल। कला और कलाकारों के लिए कोरोना काल नई चुनौतियां लेकर आया है। कलाकारों ने हमेशा जागरूकता और संवेदना बढ़ाने में महती भूमिका निभाई है। लेकिन इस कोरोना काल में सरकार को कला और कलाकारों को ध्यान में रखते हुए मदद करनी चाहिए। देश के जाने माने चित्रकार डॉ रमाशंकर मिश्र ने यह अपील की। उन्होंने कहा कि अखिल विश्व में राजाश्रय में ही कला और कलाकारों की प्रतिभा को अवसर मिले हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार, कोरोना वायरस के इस आपदा काल में कला के माध्यम से जन जागरण और अपने दिशा निर्देश आसानी से लोगों तक पहुंचा सकती है।
डॉ मिश्र ने कहा कि लॉकडाउन से कलाकारों का चिंतन, सृजन, अध्ययन एवं समाज से सरोकार सब कुछ प्रभावित हुआ है। कलाकार समाज का ही एक महत्वपूर्ण अंग है, जब समाज प्रभावित है, कोरोना से तो कलाकार का प्रभावित होना स्वाभाविक है। आज देश और दुनिया में सभी इस बीमारी से जूझ रहे हैं, मिल कर इसका सामना कर रहे हैं, यही सकारात्मकता कलाकार की ऊर्जा का स्त्रोत है।
उन्होंने कहा कि हमें प्रकृति से प्रेरणा मिलती है, जैसे मौसम बदलते हैं, उसी प्रकार यह समय भी बदलेगा, यह संघर्ष का दौर हमें सीख ही दे रहा है। विशेष रूप से कलाकारों के लिए यह समय महत्वपूर्ण है कि वे अपनी कला को और समृद्ध करें, निरंतर अध्ययन करें, कुछ नया सीखें और सिखाएं भी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Releated

आल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड कार्यकारी समिति बैठक में पदाधिकारियों का चयन

Print 🖨 PDF 📄 eBook 📱  हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी अगले 5 साल के लिए बोर्ड के अध्यक्ष चुने गए, अन्य पदाधिकारियों का भी हुआ चुनाव नई दिल्ली: आल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड कार्यकारी समिति की बैठक इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर, नई दिल्ली में हुई जिसमें बोर्ड के कार्यकारी समिति के सदस्यों ने […]