MP में बंपर वोटिंग के पीछे क्या लाडली बहना ?

 

MP में बंपर वोटिंग के पीछे क्या लाडली बहना ?

भोपाल: मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए शुक्रवार को मतदान संपन्न हो गया। इस बार 2018 के मुकाबले ज्यादा वोटिंग हुई। ग्वालियर दक्षिण और भोपाल में तो लोग देर रात तक कतारों में दिखे। खास बात यह कि इस बार सात समंदर पार से युवतियां वोट डालने पहुंची और इंदौर से बोल, सुन और देख न पाने वाली 32 वर्ष की महिला ने जिंदगी में पहली बार मतदान किया। अब बात की जाए कि लोगों ने लोकतंत्र के इस महापर्व में इतनी रुचि क्यों दिखाई ? जमीनी हकीकत की बात करें तो शिवराज सरकार की लाडली बहना योजना के असर को लोग गहराई से महसूस कर रहे हैं। मध्य प्रदेश ही नहीं देश के अन्य राज्यों में भी इस योजना की तारीफ हो रही है। खुद पीएम मोदी ने भी इस योजना को लाभकारी बताया था। हालांकि इसकी काट के लिए कांग्रेस ने सरकार बनने पर ‘नारी सम्मान योजना’ का वचन दिया है, जिसमें लाडली बहना योजना के 1250 रुपये के मुकाबले में 1500 रुपये महीना देने का वादा किया गया है।
भाजपा के फीडबैक के आधार पर कहा जा सकता है कि ये तो पहले से ही तय माना जा रहा था कि इस बार बंपर वोटिंग होगी। लाडली बहना योजना के हितग्राही बहनें शिवराज सरकार की इस योजना को किसी भी कीमत पर खोना नहीं चाहती। क्योंकि लाडली बहना योजना दुनिया की सबसे बड़ी कैश बेनिफिट स्कीम है। जून 2023 से शुरु इस योजना के तहत हर महीने 1 करोड़ 31 लाख हितग्राही महिलाओं के खाते में पैसा जा रहा है। वहीं भाजपा ने इस योजना को चुनाव में वोटों की खेती में तब्दील करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। नतीजन लोग मतदान के लिए घरों से निकले और बंपर वोटिंग हुई।
भाजपा ने इस योजना के फीडबैक के लिए जमीनी स्तर पर काम किया। इसके लिए बीजेपी संगठन ने वार्ड स्तर पर 5 से 10 महिलाओं की एक टीम भी बना रखी थी, जिन्होंने घर-घर जाकर लाडली बहना योजना की हितग्राहियों से संपर्क किया। जिसमें बहुत अच्छे नतीजें मिले। खास बात यह कि इस योजना की हितग्राही बहनों के साथ साथ परिवार के अन्य सदस्य भी आश्वस्त है। वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान ने योजना के लाभ को 3 हजार महीना तक ले जाने की कोशिश की घोषणा की थी। ऐसे में सब हितग्राहियों को इंतजार है कि कब उनके खाते में इस योजना के तहत 3 हजार रुपए आना शुरु हो।
बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद पटेल, फग्गन सिंह कुलस्ते, सांसद राकेश सिंह, गणेश सिंह, रीति पाठक, राज्य कांग्रेस प्रमुख कमल नाथ, एलओपी गोविंद सिंह सहित कुछ हाई-प्रोफाइल उम्मीदवारों की किस्मत शुक्रवार को मतदान संपन्न होने के साथ ही ईवीएम मशीनों में सील कर दिया गया है। मैदान में कुल 2,533 उम्मीदवारों में से छतरपुर जिले के मल्हारा से एक तीसरे लिंग का उम्मीदवार चुनाव लड़ रहा है। कुल 230 सीटों में से 148 सामान्य श्रेणी की हैं, जबकि 35 सीटें एससी और 47 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

Eternia Solidifies its Presence in Bhopal: इटर्निया ने मध्यप्रदेश के भोपाल में खोला नया शोरूम

   इटर्निया ने मध्यप्रदेश के भोपाल में खोला नया शोरूम स्टाइलिश खिड़कियों की पेशकाश कर बाजार में अपनी उपस्थिति मजबूत की इटर्निया का नया स्टोर रोहित नगर, फेज़ 1 में स्थित है भोपाल : हिंडाल्को के एक डिविजन, इटर्निया ने आज शहर में अपने नए शोरूम का उद्धाटन किया। इटर्निया भारत का एकमात्र ऐसा ब्राण्ड […]

MP: इंदौर – दो दिवसीय योग प्रर्दशनी आज से , प्रदर्शनी 21 जून को

  इंदौर : दो दिवसीय योग प्रर्दशनी आज से , प्रदर्शनी 21 जून को इंदौर : भारत सरकार, सूचना-प्रसारण मंत्रालय के केंद्रीय संचार ब्यूरो इंदौर द्वारा शिक्षा विभाग के सहयोग से अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर दो दिवसीय प्रर्दशनी एव योगाभ्यास करने जा रहा है। यह आयोजन बडा गणपति स्थित शासकीय कन्या उच्चतर.मा.विद्यालय मे […]