अक्टूबर-नवंबर तक 4 और फार्मा कंपनियां वैक्सीन उत्पादन शुरू करेंगी : मनसुख मंडाविया

 

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि चार और भारतीय दवा कंपनियां टीकाकरण अभियान को तेज करने के लिए अक्टूबर-नवंबर तक वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर सकती हैं। यह बात उन्होंने मंगलवार को संसद में कही। मंत्री ने वैक्सीन आवंटन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि निजी अस्पतालों द्वारा अनुपयोगी रह गई 7 से 9 प्रतिशत खुराक का भी सरकारी टीकाकरण केंद्रों द्वारा उपयोग किया जा रहा है। मंडाविया ने कहा कि आने वाले दिनों में बायोलॉजिकल ई और नोवार्टिस के टीके भी बाजार में उपलब्ध होंगे, जबकि जायडस कैडिला को जल्द ही एक विशेषज्ञ समिति से आपातकालीन उपयोग की अनुमति मिल जाएगी। बीजू जनता दल (बीजद) के नेता अमर पटनायक द्वारा 12 से 18 साल की उम्र के बीच वालों के वैक्सीन रोल आउट योजना के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए, मंत्री ने कहा, “सरकार का लक्ष्य पूरी आबादी का टीकाकरण करना है और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। मंडाविया ने कहा, “दो कंपनियां – भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट – सरकार को टीकों की आपूर्ति कर रही हैं। स्पुतनिक वैक्सीन भी उपलब्ध है और इसका उत्पादन शुरू हो गया है।
उन्होंने संसद को बताया कि भारत ने अब तक वैक्सीन की 47 करोड़ खुराक दी हैं। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चला है कि पिछले 24 घंटों में कुल 62,53,741 कोविड वैक्सीन की खुराक दी गई हैं। भारत में कोविड-19 के खिलाफ टीके लगाने वालों की कुल संख्या अब तक 48,52,86,570 हो चुकी है। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को सभी स्रोतों से अब तक टीके की 50.37 करोड़ (50,37,22,630) से अधिक खुराक प्रदान की जा चुकी है और 49,19,780 खुराक आपूर्ति की तैयारी में हैं। इनमें से व्यय सहित कुल खपत आज सुबह 8 बजे तक प्राप्त आंकड़ो के अनुसार 48,19,75,798 खुराक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड को मिला ‘बेस्ट स्टेट टूरिज्म बोर्ड’ का अवॉर्ड

  मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड को मिला ‘बेस्ट स्टेट टूरिज्म बोर्ड’ का अवॉर्ड नई दिल्ली में SATTE एग्जिबिशन के दौरान मिला सम्मान भोपाल : मध्यप्रदेश के पर्यटन गंतव्यों के प्रचार-प्रसार, नवाचार करने, पर्यटकों को अनुभव आधारित पर्य़टन प्रदान करने एवं पर्यावरण अनुकूल पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड (एमपीटीबी) को […]