Madhya Pradesh-Indore: कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या छुपा रहा है प्रशासन – डॉक्टर गडरिया

 

इंदौर। कलेक्टर मनीष सिंह के अभद्र व्यवहार से परेशान होकर अपने पद से इस्तीफा देने वाली जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर पूर्णिमा गडरिया ने इंदौर प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। गुरुवार को उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा छुपाया जा रहा है। वहीं अस्पतालों पर ध्यान देने के बजाय प्रशासन द्वारा सिर्फ राधा स्वामी कोविड केयर सेंटर पर ही ध्यान दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण से होने वाली मौतों के आंकड़ों को लेकर काफी लंबे समय से संशय बना हुआ है। बुधवार को अपने पद से इस्तीफा देने वाली डॉक्टर गडरिया ने गुरुवार को आरोप लगाते हुए कहा कि जनता परेशान हो रही है, उनकी समस्याओं को सुनने के लिए अधिकारी उपलब्ध नहीं है, कलेक्टर कार्यालय पर ताला लगा हैं और कलेक्टर बजाय जनता की समस्या हल करने के दो-दो घंटे मीटिंग करके समय खराब कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के अधिकारी कमरों में बैठकर सिर्फ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आदेश दे रहे हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने की जवाबदारी जिला प्रशासन की है लेकिन वह इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को जिम्मेदार ठहराते हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तो मरीजों की परेशानी सुनते भी हैं लेकिन जिला प्रशासन के अधिकारी तो अपना फोन बंद करके बैठ जाते हैं।
प्रशासन सिर्फ एक जगह ही लूटा रहा है पैसा
डॉ. पूर्णिमा गडरिया का कहना है कि जिले के सभी अस्पतालों की हालत खराब है लेकिन जिला प्रशासन द्वारा सिर्फ राधा स्वामी कोविड केयर सेंटर पर ही पैसा लूटाया जा रहा है। वहां की 4.5 करोड़ रुपए की फाइल अभी भी पास होना बाकी है। अन्य अस्पतालों की तरफ प्रशासन का ध्यान ही नहीं है। वहीं ऑक्सीजन प्लांट को लेकर भी प्रशासन गंभीर नहीं है।
हम भी मेहनत करके ही अधिकारी बने है
डॉक्टर गडरिया का कहना है कि डॉक्टर बनने के लिए काफी पढ़ाई व मेहनत करना पड़ती है जबकि कलेक्टर यह सोचते हैं कि सिर्फ उन्होंने ही पढ़ाई की है और काम करना सिर्फ उन्हें ही आता है। कलेक्टर स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों को अपने इशारे पर नचाना चाहते हैं।
दो डॉक्टरों ने दिया था इस्तीफा
प्रशासन के अधिकारियों द्वारा अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के दो डॉक्टरों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने वालों में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर पूर्णिमा गडरिया और मानपुर के मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) डॉ. आरएस तोमर शामिल है। डॉ. गडरिया ने कलेक्टर मनीष सिंह और डॉ. तोमर ने एसडीएम अभीलाष मिश्रा द्वारा प्रताड़ित किए जाने की बात को लेकर यह कदम उठाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

दिल्ली शराब नीति केस में केजरीवाल को मिली नियमित जमानत

  नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नियमित जमानत मिल गयी है। शराब घोटाले मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री को गिरफ्तार किया गया था। केजरीवाल को एक लाख रुपये के मुचलके पर राउज एवेन्यू कोर्ट ने जमानत दी है। अरविंद केजरीवाल जमानत की प्रक्रिया पूरी होने के बाद शुक्रवार को जेल से […]

PM नरेंद्र मोदी से CM डॉ. यादव ने केन-बेतवा परियोजना के भूमिपूजन के लिए किया अनुरोध

  PM नरेंद्र मोदी से CM डॉ. यादव ने केन-बेतवा परियोजना के भूमिपूजन के लिए किया अनुरोध जल-गंगा अभियान और सिकल सेल उन्मूलन कार्यक्रम सहित प्रदेश में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी भोपाल : प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने आज उनके निवास 7, लोक कल्याण मार्ग में सौजन्य भेंट […]