indore: लोक कला संस्कृति के प्रसार में मालवा उत्सव का विशेष महत्व है – मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव

 

लोक कला संस्कृति के प्रसार में मालवा उत्सव का विशेष महत्व है – मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव

उज्जैन महाकाल लोक में ठोस पत्थर की प्रतिमाएं स्थापित की जा रही है – मुख्यमंत्री डा मोहन यादव
मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव मालवा उत्सव में कलाकारों का हौसला बढ़ाया
मालवा उत्सव में मध्यप्रदेश, गुजरात एवं महाराष्ट्र के लोक नृत्य दलों ने दी मनमोहक प्रस्तुतियाँ

इंदौर : लोक कला और संस्कृति के व्यापक प्रसार में मालवा उत्सव का विशेष महत्व है मालवा उत्सव को और विस्तार दिया जाएगा यह बात मुख्यमंत्री डा मोहन यादव ने आज इंदौर में आयोजित मालवा उत्सव में कही डा यादव ने कहा मालवा की कला और संस्कृति का दुनियाभर में व्यापक प्रसार हो इसके लिए भी विशेष प्रयास किए जाएंगे कला और संस्कृति से एक से दूसरे देश को तथा मानव सभ्यता को जोड़ने में विशेष महत्व रहता है. उन्होंने कहा माँ अहिल्या द्वारा स्थापित संस्कृति की ध्वज पताका आज भी फहरा रही है . उन्होंने कहा उज्जैन महालोक में ठोस पत्थर की प्रतिमाएं स्थापित की जा रही है. कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के जल संसाधन मंत्री श्री तुलसी सिलावट, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजेश राजौरा, विधायक रमेश मेंदोला, गोलू शुक्ला, मालिनी गोड़, उषा ठाकुर, सावन सोनकर, सांसद शंकर ललवानी, महापौर श्री पुष्प मित्र भार्गव, गौरव रणदीवे, पुलिस कमीशनर श्री राजेश गुप्ता, कलेक्टर श्री आशीष सिंह सहित गणमान्यजन उपस्थित थे. श्री देवी अहिल्या बाई होल्कर की 300 वीं जन्म जयंती समारोह अंतर्गत 23वें मालवा उत्सव का आयोजन लोक संस्कृति मंच द्वारा लाल बाग पैलेस में आयोजित हुआ .

कार्यक्रम में मध्यप्रदेश, गुजरात महाराष्ट्र के लोक संस्कृति दलों द्वारा नृत्य की प्रस्तुति दी गई, दलों में इंदौर से श्रुति शर्मा, अभ्यास कला केंद्र के कलाकारों ने मेघा शर्मा के मार्गदर्शन में कला प्रस्तुति दी| कार्यक्रम में नव्या चौरसिया ने कत्थक नृत्य, डालिया दस्ता नृत्य, राठवा नृत्य गुजरात, वासावा होली नृत्य गुजरात, बधाई नौरता नृत्य सागर, थात्या नृत्य बैतुल, राम ढोल नृत्य छिंडवाडा, लावणी नृत्य मुंबई, डा गीता शर्मा इंदौर के दल द्वारा शिव तांडव नृत्य, सृजन नारी समूह इंदौर, गमित नृत्य गुजरात के दल ने प्रस्तुति दी. मनमोहक लोक संस्कृति को दर्शाती प्रस्तुतियों को अतिथि गण दर्शकों ने उन्मुक्त कंठ से सराहना की मंच को काशी विश्व नाथ मंदिर की प्रतिकृति के रूप में दर्शाया गया, मंच पर भगवान काशी विश्व नाथ मंदिर, भगवान भोले नाथ का शिव लिंग, भगवान नंदी की प्रतिकृति तैयार की गई जो भव्य मंच को आकर्षक और मनमोहक दर्शा रही थी , भव्य मंच पर कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों को पारम्परिक वेशभूषा, सुमधुर वाद्य यन्त्रों और संगीत पर प्रस्तुत की .देश के विभिन्न भागों, लोक संस्कृति के दर्शन मालवा उत्सव के माध्यम से नजर आए. मालवा उत्सव में बड़ी संख्या में आमजन, कलाप्रेमी उपस्थित हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

खुद को युवाओं के प्रतीक कहने वाले नेता छात्रों के साथ कर रहे अन्याय : दिग्विजय सिंह

  भोपाल। भोपाल में गुरुवार को कांग्रेस नेताओं ने नर्सिंग घोटाले को लेकर भाजपा को घेरा। संवाददाताओं से बात करते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि हमारे नेताओं ने विधानसभा में नर्सिंग घोटाले के मुद्दे को प्रभावशाली तरीके से उठाया और सरकार कोई जवाब नहीं दे पाई। उन्होंने कहा कि […]

उत्तर प्रदेश के गोंडा में हुए रेल हादसे पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने जताया दुख

  नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के गोंडा में हुए रेल हादसे पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने दुख जताया है। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से राहत और बचाव कार्य में सहयोग की अपील की। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा, “उत्तर प्रदेश के गोंडा में चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के डिरेल होने […]