बंदा बाल सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए है, आसाराम को बदनाम करने के लिए नहीं’: मनोज बाजपेयी

 

बंदा बाल सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए है, आसाराम को बदनाम करने के लिए नहीं’: मनोज बाजपेयी

नई दिल्ली : अपने बेहतरीन अभिनय कौशल के लिए प्रसिद्ध, पुरस्कार विजेता अभिनेता मनोज बाजपेयी ने दर्शकों के दिल-ओ-दिमाग पर एक स्थायी छाप छोड़ी है। बोल्ड भूमिकाओं और अपने विचारों के लिए प्रशंसित अभिनेता इस बार ‘आप की अदालत’ के एक विशेष एपिसोड में अपने मन की बात कहने के लिए तैयार हैं।
सुर्खियाँ बटोरने वाले शो ‘आप की अदालत’ में अपनी पहली उपस्थिति के साथ मनोज बाजपेयी इस सप्ताह के अंत में 20 मई, शनिवार को रात 10 बजे इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के साथ खुलकर बातचीत करेंगे। स्वघोषित संत आसाराम बापू पर आधारित अपने आगामी कोर्ट रूम ड्रामा से लेकर फिल्म जगत में पक्षपात के मुद्दे तक, अभिनेता विभिन्न मुद्दों पर बात करेंगे।
अपनी आने वाली फिल्मों को लेकर चल रहे विवाद के बारे में बात करते हुए बाजपेयी ने कहा, ‘बंदा मेरे करियर की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में से एक है।’ यह बच्चों की सुरक्षा के बारे में है तथा माता-पिता और समाज को एक संदेश देता है कि उन्हें बाहर की खतरनाक दुनिया से कैसे बचाया जाए। यह फिल्म आसाराम बापू को बदनाम करने के लिए नहीं बनाई गई है।’
उन्होंने दिल्ली में अपने संघर्ष के दिनों की यादों को भी साझा किया जब वह और शाहरुख खान एक साथ थिएटर कर रहे थे। पहली बार डिस्को जाने की घटना को याद करते हुए उन्होंने खुलासा किया कि कैसे शाहरुख खान और उनके दोस्तों ने लॉबी में एक आदमी से जूते की एक जोड़ी उधार ली ताकि वह डिस्को में प्रवेश कर सके। मनोज बाजपेयी ने फिल्म उद्योग में अपने शुरुआती दिनों के बारे में भी खुलासा किया और रजत शर्मा के साथ बातचीत में बताया कि कैसे उन्हें पहला अवसर (ब्रेक) मिला। दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह को ‘अभिनय का देवता’ बताते हुए उन्होंने कहा कि, उनकी फिल्में देखकर मैंने बहुत कुछ सीखा है।
रजत शर्मा का सुर्खियाँ बटोरने वाला कार्यक्रम – ‘आप की अदालत’ – दो दशकों से अधिक की विरासत के साथ सबसे लंबे समय तक चलने वाला टीवी शो है। 1993 में इसकी शुरुआत के बाद से इस कार्यक्रम में राजनेताओं, फिल्मी सितारों, एथलीटों और गुरुओं सहित 1000 से अधिक हस्तियों को शामिल किया गया है। यह शो इंडिया टीवी पर हर शनिवार को रात 10 बजे प्रसारित किया जाता है तथा रविवार को सुबह 10 बजे और रात 10 बजे दोहराया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

नज़दीकी सिनेमाघरों में 8 मार्च 2024 को महायोगी हाईवे 1, एक छवि है मानव एकता की

  नज़दीकी सिनेमाघरों में 8 मार्च 2024 को महायोगी हाईवे 1, एक छवि है मानव एकता की Mumbai: 8 मार्च 2024 को, यानि महाशिवरात्रि के दिन इस साल कुछ ऐसा होने जा रहा है जो किसी अलौकिक घटना से कम नहीं है। इस महाशिवरात्रि के दिन, इंसानों को मिलने जा रहा है स्वयं ईश्वर के […]