सुप्रीम कोर्ट के 48वें चीफ जस्टिस बने एन वी रमण, राष्ट्रपति कोविंद ने दिलाई शपथ

 

नई दिल्ली। न्यायमूर्ति एन वी रमण ने शनिवार को देश के 48वें प्रधान न्यायाधीश के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में, न्यायमूर्ति रमण का कार्यकाल 26 अगस्त, 2022 तक होगा। 17 फरवरी, 2014 को सुप्रीम कोर्ट में अपने पद से हटने से पहले न्यायमूर्ति रमण दिल्ली दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे। जस्टिस रमण को 2000 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था। वह आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश भी रहे हैं। 6 अप्रैल को राष्ट्रपति ने भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश के रूप में न्यायमूर्ति एन वी रमण की नियुक्ति पर हस्ताक्षर किए थे। 23 अप्रैल को न्यायमूर्ति एस ए बोबडे की सेवानिवृत्ति के बाद न्यायमूर्ति रमण ने मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदभार संभाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

MP: इंदौर के व्यापारी से हनी ट्रैप (Honey trap) के प्रयास में पांच पकड़ाए , मास्टर मांइड लेडी डान सपना साहू की तलाश

  इंदौर के व्यापारी से हनी ट्रैप (Honey trap) के प्रयास में पांच पकड़ाए , मास्टर मांइड लेडी डान सपना साहू की तलाश आरोपी दंपती को पुलिस ने रिमांड पर लिया , मामले में लेडी डॉन सपना साहू सहित सात को बनाया आरोपी इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर (Indore) में एक व्यापारी के खिलाफ पिछले दिनों […]

indore: लोक कला संस्कृति के प्रसार में मालवा उत्सव का विशेष महत्व है – मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव

  लोक कला संस्कृति के प्रसार में मालवा उत्सव का विशेष महत्व है – मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव उज्जैन महाकाल लोक में ठोस पत्थर की प्रतिमाएं स्थापित की जा रही है – मुख्यमंत्री डा मोहन यादव मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव मालवा उत्सव में कलाकारों का हौसला बढ़ाया मालवा उत्सव में मध्यप्रदेश, गुजरात एवं महाराष्ट्र के […]