HDFC Bank : एचडीएफसी बैंक ने विकास के अगले चरण के लिए “प्रोजेक्ट फ्यूचर – रेडी” को पेश किया

 

• भविष्य के लिए तैयार टीमें बनाने के लिए संगठनात्मक परिवर्तन
• तीन संगठनात्मक स्तंभ – बिजनेस वर्टिकल, डिलीवरी चैनल और टैक/डिजिटल

मुंबई : एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) भारत के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के ऋणदाता ने आज अपनी विकास की अगली लहर को श्क्तिकृत करने के लिए “प्रोजेक्ट फ्यूचर – रेडी” के तहत संगठनात्मक परिवर्तनों को पेश किया। बैंक तीनों क्षेत्रों में अपने निष्पादन की स्थिति को अधिक मजबूत करने के लिए और भविष्य के लिए तैयार होने के लिए बिजनेस वर्टिकल, डिलीवरी चैनल और टैक/डिजिटल के तीन स्पष्ट क्षेत्रों में खुद को पुनर्गठित कर रहा है। केंद्रित व्यावसायिक कार्यक्षेत्र और वितरण चैनल का निर्माण आने वाले समय में ग्राहक क्षेत्रों में अवसरों को मूल बनाने में सक्षम होगा। बैंक अपने व्यवसाय के कार्यक्षेत्रों जिनमें कॉर्पोरेट बैंकिंग, खुदरा बैंकिंग, निजी बैंकिंग, सरकार और संस्थागत बैंकिंग, खुदरा संपत्ति और भुगतान शामिल हैं, पर अपने प्रयासों को फिर से दोगुना करेगा। इसके अलावा, बैंक भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़, कमर्शियल बैंकिंग (एम.एस.एम.ई वर्टिकल) पर अपना ध्यान बढ़ा रहा है। यह बैंक को पूरे भारत और इंडिया में अपनी उत्पाद और डिजिटल शक्ति को पूरी कमर्शियल बैंकिंग (एम.एस.एम.ई समुदाय) में अधिक समग्र और केंद्रित तरीके से लाने में सक्षम करेगा। बैंक के चार व्यापक वितरण चैनल हैं; ब्रांच बैंकिंग, टैली-सर्विस/सेल्स (वर्चुअल रिलेशनशिप मैनेजर चैनल सहित), बिजनेस वर्टिकल के साथ संरेखित सेल्स चैनल और डिजिटल मार्केटिंग। ये चैनल अर्ध-शहरी और ग्रामीण स्थानों सहित देश के हर हिस्से को कवर करते हैं। ग्राहक अनुभव को बेहतर बनाने के प्रयास के तहत बैंक इन सभी चैनलों में निवेश करना जारी रखेगा।
सभी व्यवसाय और वितरण चैनल केन्द्रीय शक्ति के रूप में टेक्नोलॉजी और डिजिटल द्वारा समर्थित होंगे। बैंक ने पहले ही अपने टेक्नोलॉजी ट्रांसफॉर्मेशन एजेंडा को रेखांकित कर दिया है और यह अपने टेक्नोलॉजी/डिजिटल कार्यों को समन्वित और एकीकृत करेगा और बैंक को चलाने और बेहतर बनाने के लिए आक्रामक तरीके से निवेश करेगा।एचडीएफसी बैंक के एमडी और सी.ई.ओ श्री शशि जगदीशन ने कहा, “हम आने वाले समय में मिलने वाले अवसरों को मूल बनाने के लिए टेक्नोलॉजी और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन द्वारा समर्थित शीर्ष स्तरीय प्रतिभा के साथ विकास के संचालकों का निर्माण कर रहे हैं। ये हमारे दिमाग में भविष्य के लिए तैयार टीमों के रूप में मौजूद है। मुझे यकीन है कि यह संरचना आवश्यक रणनीतिक और निष्पादन चपलता पैदा करेगी जिसकी इंडिया और भारत, रिटेल, कमर्शियल (एम.एस.एम.ई) और कॉर्पोरेट क्षेत्रों में अपने ग्राहकों की सेवा करने के लिए हमें आवश्यकता है। श्री कैज़ाद भरूचा, कार्यकारी निदेशक, कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह, पूंजी और माल बाजार समूह और वित्तीय संस्थानों सहित होलसेल बैंक का संचालन जारी रखेंगे।
श्री राहुल श्याम शुक्ला, समूह प्रमुख, अब कमर्शियल बैंकिंग (एम.एस.एम.ई) और ग्रामीण कार्यक्षेत्र को चलाने के लिए जिम्मेदार होंगे, जो भारत और बैंक दोनों के लिए एक बड़ा विकास इंजन है।
सुश्री स्मिता भगत, समूह प्रमुख – सरकार और संस्थागत व्यवसाय (जीआईबी) और स्टार्ट-अप सरकार/संस्थागत बैंकिंग का संचालन जारी रखेंगी। वह सीएससी समेत स्टार्ट-अप क्षेत्र के साथ हमारी साझेदारी को बेहतर बनाते हुए हमारी ग्रामीण मौजूदगी के विस्तार को भी संचालित करेंगी।
श्री अरविंद कपिल, समूह प्रमुख – रिटेल एसेट्स और एसएलआई, रिटेल एसेट्स पोर्टफोलियो को चलाना जारी रखेंगे। हमारा मानना है कि देश में प्रवेश के तहत श्रेय के मामले में रिटेल एसेट्स के विकास की एक बड़ी संभावना है।
श्री राकेश सिंह, समूह प्रमुख – निवेश बैंकिंग और निजी बैंकिंग मार्किटिंग, खुदरा देयता उत्पादों और प्रबंधित कार्यक्रमों के लिए भी जिम्मेदार होंगे।
श्री रवि संथानम, सीएमओ, अब स्टैंड-अलोन डिलीवरी चैनल के रूप में डिजिटल मार्केटिंग के संचालन के लिए भी जिम्मेदार होंगे। वह अतिरिक्त रूप से खुदरा देयता उत्पादों और प्रबंधित कार्यक्रमों के लिए भी जिम्मेदार होंगे।
श्री संपत कुमार, समूह प्रमुख – एनआरआई अब बैंक के वीआरएम डिलीवरी चैनल सहित सभी टैली-सर्विस संबंधों को संचालित करेंगे। एक बेहतर ग्राहक अनुभव देने के लिए जनादेश ह्यूमन टच और डिजिटल की शक्ति को संयोजित करेगा। श्री अरविंद वोहरा, समूह प्रमुख – रिटेल शाखा बैंकिंग, खुदरा व्यापार और विदेशी मुद्रा शाखा बैंकिंग के माध्यम से पूरे भारत में बैंक की पहुंच का विस्तार करने के प्रयासों को जारी रखेंगे। श्री पराग राव, समूह प्रमुख – पेमेंट्स बिजनेस, अब टेक्नोलॉजी ट्रांसफॉर्मेशन और डिजिटल एजेंडा को संचालित करेंगे। वह लंबवत भुगतानों के लिए ज़िम्मेदार रहेंगे। श्री रमेश लक्ष्मीनारायण, मुख्य सूचना अधिकारी और श्री अंजनी राठौर, मुख्य डिजिटल अधिकारी पराग को रिपोर्ट करेंगे।
श्री आशीष पार्थसारथी- समूह प्रमुख, ट्रेजरी और जीआईबी टैली-सर्विस/सेल्स/रिलेशनशिप चैनल का नेतृत्व करेंगे।
श्री भावेश ज़ावेरी, समूह प्रमुख – संचालन, बैंक के संपूर्ण कार्यों को संभालना जारी रखेंगे। वह पूरे देश में पूरे एटीएम चैनल के संचालन के लिए अतिरिक्त रूप से जिम्मेदार होगा।
आकार और पहुंच में वृद्धि करते हुए हमारे लिए क्रेडिट, रिस्क, कंट्रोल और सक्षम कार्यों की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। वर्तमान नेतृत्व इन भूमिकाओं में जारी रहेगा और यह प्रोजेक्ट फ्यूचर रेडी के उदेश्य को साकार करने के लिए ट्रांसफॉर्मेशन यात्रा में सहयोग देता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

यूपीआई से जुड़ रहे हर महीने 60 लाख नए उपभोक्ता, वैश्विक स्तर पर इसे अपनाने में आई तेजी

  यूपीआई से जुड़ रहे हर महीने 60 लाख नए उपभोक्ता, वैश्विक स्तर पर इसे अपनाने में आई तेजी नई दिल्ली। भारत सरकार के द्वारा डिजिटल भुगतान को तेज करने की कोशिश रंग ला रही है। इसमें वृद्धि जारी है और यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) अब हर महीने 60 लाख नए उपभोक्ताओं को जोड़ रहा […]

Madhya Pradesh: रेवफिन का ‘जागृति यात्रा अभियान’ मध्य प्रदेश में ईवी की इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी)

  रेवफिन का ‘जागृति यात्रा अभियान’ मध्य प्रदेश में ईवी की क्रांति लाने का वादा करता है . इस नवीन पहल का उद्देश्य परिवहन के क्षेत्र में बदलाव लाना, समुदायों को सशक्त बनाना, और वहनीय मोबिलिटी के विकास को बढ़ावा देना है. इंदौर : भारत की प्रमुख ईवी फाइनेंसिंग कंपनी, रेवफिन ने आज मध्य प्रदेश […]