Lok Sabha elections 2024 – लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस का खाता क्यों हुआ फ्रीज ?

 

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस का खाता क्यों हुआ फ्रीज ?

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बैंक अकाउंट फ्रीज किए जाने पर कांग्रेस ने गुरुवार को केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से लेकर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पार्टी कोषाध्यक्ष अजय माकन समेत अन्य दिग्गजों ने सिलसिलेवार आयकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए. कांग्रेस ने बैंक अकाउंट फ्रीज किए जाने से मुश्किलें और चुनौतियां भी गिनाईं. सोनिया गांधी ने कहा कि सबसे पुरानी पार्टी को ‘पंगु’ बनाने की कोशिश की जा रही है.
राहुल गांधी ने कहा कि पैसे नहीं होने से नेताओं को दूसरे शहर तक नहीं भेज पा रहे हैं. रेल टिकट तक नहीं खरीद पा रहे हैं. अजय माकन का कहना था कि पार्टी चुनावी पैम्फलेट तक नहीं छपवा पा रही है. विज्ञापन बुक नहीं कर पा रहे हैं. चुनावी तैयारियां नहीं कर पा रहे हैं. कांग्रेस नहीं, लोकतंत्र को फ्रीज कर दिया गया है. हमें असहाय बनाकर चुनाव में उतारना चाहते हैं.
राहुल गांधी ने कहा एक माह पहले हमारे सभी बैंक खाते फ्रीज कर दिए गए थे. कोई अदालत नहीं, किसी ने कुछ नहीं कहा. हम 20 फीसदी लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं. 20 प्रतिशत इंडिया हमारे को वोट करता है और हम दो रुपए नहीं दे सकते हैं. हमारे नेता यात्रा नहीं कर सकते हैं, हम विज्ञापन नहीं दे सकते हैं. इश्यू 14 लाख का है, उन्होंने हम पर 200 करोड़ का जुर्माना लगाया है. यह एक आपराधिक कृत्य है, जो पीएम ने किया है. अदालत और चुनाव आयोग कुछ नहीं कह रहे हैं, उन सभी को इसमें भूमिका निभानी चाहिए. कांग्रेस को कमजोर करने के लिए सब कुछ किया जा रहा है. यह बैंक खाते फ्रीज नहीं किए गए, बल्कि भारतीय लोकतंत्र को फ्रीज किया गया है.
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, लोकतंत्र के लिए निष्‍पक्ष चुनाव होना जरूरी है. निष्‍पक्ष चुनाव के लिए लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड होना जरूरी है. पिछली दिनों सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इलेक्टोरल बॉन्ड की सच्चाई निकलकर सामने आई है. किसी भी लोकतंत्र के लिए निष्पक्ष चुनाव जरूरी होते हैं. सभी राजनीतिक दलों के लिए लेवल प्लेइंग फील्ड होनी चाहिए, समान अवसर होने चाहिए. ये जरूरी है, ये नहीं कि एक दल की मोनोपॉली हो. हम बराबरी से चुनाव ना लड़ पाएं, इसलिए खाते सीज कर दिए हैं. एक राजनीतिक दल को चुनाव लड़ने में बाधा उत्पन्न कर खतरनाक खेल खेला गया है. हर तरफ सिर्फ इनका ही विज्ञापन लगा है, उसमें भी मोनोपोली है. बीजेपी के हर जगह फाइव स्टार दफ्तर हैं. सरकार के चुनावी खर्चे का कोई हिसाब नहीं है. बीजेपी ने कभी खाते की डिटेल्स नहीं दी है. सिर्फ हमसे खाते की जानकारी चाहते हैं. चुनाव बराबरी पर होना चाहिए. बीजेपी कभी टैक्स नहीं देती है, लेकिन हमसे मांगती है. कांग्रेस के फ्रीज खातों को बहाल किया जाए. हमारा खाता फ्रीज करना अलोकतांत्रिक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

किसी भी प्रकार के एग्जिट पोल तथा इसके परिणाम का प्रकाशन या प्रचार 19 अप्रैल से एक जून तक पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा

  भोपाल : लोकसभा निर्वाचन 2024 की आदर्श आचार संहिता प्रभावशील है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अनुपम राजन ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के दौरान प्रथम चरण की मतदान तिथि 19 अप्रैल की सुबह 7 बजे से एक जून की शाम 6:30 बजे तक निर्वाचन के संबंध में किसी भी प्रकार के एग्जिट पोल […]

सलमान खान के घर पर गोलीबारी करने वालों का CCTV फुटेज आया सामने, परिवार से मिलने पहुंचे राज ठाकरे

  नई दिल्ली। बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के गैलेक्सी अपार्टमेंट स्थित आवास के बाहर फायरिंग का मामला पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया है। बाइक पर सवार दो हमलावरों ने गोलियां चलाईं और फिर मौके से फरार हो गए. घटना सुबह करीब 5 बजे हुई और सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसमें […]